Bollywood News In Hindi : Sushant Singh Rajput’s Prayer Meet Held In Patna | सुसाइड के 8 दिन बाद पटना में हुई अभिनेता की प्रार्थना सभा, रिश्तेदार और दोस्त हुए शामिल

दैनिक भास्कर

Jun 22, 2020, 11:32 AM IST

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की प्रार्थना सभा रविवार को उनके होम टाउन पटना में हुई। इसकी फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।  फोटो में देखा जा सकता है कि एक कमरे में सुशांत की फोटो रखी हुई है और उसके चारों और सफेद फूलों की सजावट है। वहीं, वीडियो कमरे के बाहर से बनाया गया है। सुशांत के फैमिली मेंबर्स, रिश्तेदारों, दोस्तों और उनके परिवार के करीबियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। 

12 साल तक एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में एक्टिव रहे सुशांत सिंह राजपूत पटना के रहने वाले थे। 2002 में उनकी मां का निधन हो गया था। मां की मन्नत पूरी करने के लिए वे पिछले साल पटना गए थे। उन्होंने वहां अपना मुंडन भी कराया था। 

14 जून को मुंबई में हुआ था सुशांत का निधन

सुशांत का निधन 14 जून को मुंबई स्थित उनके घर में हुआ था। 34 वर्षीय अभिनेता ने सीलिंग फैन से लटककर जान दी थी। 15 जून को मुंबई के बिले पार्ले स्थित पवन हंस श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया था। 

अभिनेता के घर से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। शुरुआती जांच में पता चला है कि सुशांत डिप्रेशन से जूझ रहे थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है और उनके जान-पहचान वालों से पूछताछ कर आत्महत्या के पीछे की गुत्थी को सुलझाने की कोशिश कर रही है। 

2008 में टीवी पर डेब्यू किया था
सुशांत ने 2008 में एकता कपूर के शो ‘किस देश में है मेरा दिल’ से सेकंड लीड एक्टर के तौर पर टीवी डेब्यू किया था। इसके बाद एकता ने ही उन्हें अपने शो ‘पवित्र रिश्ता’ में लीड रोल दिया। करीब चार साल तक एकता के साथ काम करने के बाद 2013 में रिलीज हुई फिल्म ‘काई पो छे’ के लिए उन्होंने टीवी को छोड़ने का फैसला लिया।

7 साल के फिल्मी करियर में सुशांत ने 12 फिल्मों में काम किया था। इनमें ‘पीके’, ‘एम.एस. धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ और ‘छिछोरे’ जैसी हिट फिल्में शामिल हैं। सुशांत की आखिरी रिलीज फिल्म ‘ड्राइव’ थी, जिसकी स्ट्रीमिंग पिछले साल नेटफ्लिक्स पर हुई थी। जबकि एक अन्य फिल्म ‘दिल बेचारा’ लॉकडाउन के चलते रिलीज नहीं हो पाई। चर्चा है कि इसे भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर लाया जा सकता है।

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: