Coronavirus China Italy | Coronavirus Outbreak China Italy Iran USA Japan France Live Today News Updates World Cases Novel Corona COVID-19 Death Toll | अब तक 2.19 लाख मौतें: जर्मनी और अमेरिका ने मिलकर शुरू किया वैक्सीन का ट्रायल, 200 वॉलेंटियर्स को पहला डोज दिया गया

  • सीडीसी ने कहा- अमेरिका के 7 राज्यों में मौतों की संख्या सरकारी आंकड़ों से 50% ज्यादा, इसमें इलिनॉय, मेरीलैंड और मैसाचुसेट्स शामिल
  • अमेरिका में अब तक 59 हजार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि संक्रमण का आंकड़ा 10 लाख 35 हजार से ज्यादा हो गया है

दैनिक भास्कर

Apr 29, 2020, 08:02 PM IST

वॉशिंगटन. दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 31 लाख 39 हजार 523 लोग संक्रमित हैं। दो लाख 19 हजार 332 की मौत हो चुकी है, जबकि नौ लाख 59 हजार 224 ठीक हो चुके हैं। जर्मनी की एक कंपनी अमेरिका की फाइजर कंपनी के साथ कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू कर चुकी है। दोनों कंपनियों ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि इसके रिजल्ट्स को बारीकी से परखा जा रहा है। अगर ये सटीक और मापदंडों पर खरे उतरे तो साल के अंत तक लाखों वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू हो जाएगा।

वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों कंपनियों ने इस वैक्सीन पर काफी पहले काम शुरू कर दिया था। जर्मन कंपनी बायोएनटेक के मुताबिक 200 वॉलेंटियर्स को पहला डोज दिया गया है।

अमेरिका में कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में फ्लाई पास्ट

अमेरिका में मंगलवार को मेडिकल वर्कर्स के सम्मान में फाइटर जेट्स ने न्यूयॉर्क के आसमान में फ्लाइ पास्ट किया। शहर की स्काईलाइन पर उड़ान भरते जेट्स को देखने के लिए कई लोग जमा हुए। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने लॉकडाउन के बाद जल्द ही देश को खोलने की बात कही है। हालांकि अमेरिका में कोरोना से अब भी 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं और 59 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 10,35,765 59,266  1,42,238
स्पेन 2,32,128 23,822 1,23,903
इटली  2,01,505 27,359  68,941
फ्रांस 1,65,911 23,239 45,513
ब्रिटेन 161,145 21,678 उपलब्ध नहीं
जर्मनी 1,60,059 6,314 1,20,400
तुर्की  1,14,653 2,992 38,809
रूस 93,558 867  8,456
ईरान 92,584  5,877  72,439
चीन 82,858 4,633 77,555    

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

अपडेट्स

  • पाकिस्तान में सिंध प्रांत के हिंदू विधायक राणा हमीर सिंह भी कोरोनावायरस के संक्रमण की चपेट में आ गए हैं।  

  • पेरु के जेल में संक्रमण से दो कैदियों की मौत के बाद दंगा भड़क गया। इसमें 9 और कैदियों की जान चली गई। साथ ही पांच पुलिस अधिकारी और 60 गार्ड घायल हो गए। यहां 31 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

  • वियतनाम की सीमाएं चीन से सटी होने के बावजूद यहां एक भी मौत नहीं हुई है। यहां अब तक केवल 270 संक्रमित ही मिले हैं। सरकार ने जनवरी में ही देश की सीमाएं बंद कर दी थीं।

  • न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, पुर्तगाल, फ्रांस और ग्रीस समेत कई यूरोपीय देश प्रतिबंधों को कम करने की योजना बना रहे हैं। वहीं कई अमेरिकी राज्य भी खुलने लगे हैं।
  • पुर्तगाल की सेना देश के स्कूलों को डिसइन्फेक्ट करने में जुट गई है। हाईस्कूल के फाइनल ईयर के बच्चे 18 मई से स्कूल जा सकेंगे। यहां 948 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 24 हजार 322 संक्रमित हैं।

अमेरिका के 7 राज्यों में मौतों की संख्या सरकारी आंकड़ों से 50% ज्यादा : सीडीसी
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने सात राज्यों में हुई मौतों का आंकड़ा मंगलवार को जारी किया। इसमें महामारी के पांच हफ्ते के दौरान हुई मौतों का आंकड़ा इसकी वास्तविक संख्या से करीब 50% कम नजर आ रही है। सीडीसी के मुताबिक इन राज्यों में सरकारी संख्या से 9000 ज्यादा मौतें हुई हैं।
सीडीसी के मुताबिक, मौतों के बारे में जारी डाटा में सभी मौत शामिल नहीं है। इसमें हाल के दिनों में हुई मौतों का जिक्र नहीं है, लेकिन यह पता चलता है कि महामारी किस तरह की तबाही मचा रही है। इसके मुताबिक 8 मार्च से 11 अप्रैल के बीच कोलाराडो, इलिनॉय, मेरीलैंड, मैसाचुसेट्स, मिशिगन, न्यूयॉक और न्यूजर्सी में सभी कारणों से हुई मौतों का स्तर बढ़ा है।

फ्रांस में देश को ग्रीन और रेड जोन में बांटा जाएगा
फ्रांस के प्रधानमंत्री एडुआर्डे फिलिप ने कहा कि लॉकडाउन में छूट के बाद देश को रेड और ग्रीन जोन में बांटा जाएगा। सरकार ने हाल ही में देश में पाबंदियों में राहत देने का फैसला किया है। फिलिप ने कोरोना की रोकथाम के लिए अगले चरण की योजना साझा करते हुए यह बात कही। देश के सभी प्रशासनिक क्षेत्रों को तीन मापदंडों के आधार पर जोन में बांटा जाएगा। जोन पिछले सात दिनों में सामने आए नए मामलों, क्षेत्र में आईसीयू की क्षमता और स्थानीय स्तर पर टेस्टिंग और ट्रेसिंग की क्षमता पर तय होंगे। रेड जोन में राहत काफी कम होगी। वहीं, ग्रीन जोन में अधिक सहूलियतें दी जाएगी।

चीन: 22 मई से संसद के वार्षिक सत्र का आयोजन

चीन में 22 मई से संसद का वार्षिक सत्र होगा। 13वीं नेशनल पीपुल्स कांग्रेस का तीसरा सत्र मार्च में ही होने वाला था। लेकिन महामारी की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया था। चीन में 24 घंटे के दौरान 22 नए मामले सामने आए हैं जिनमें से 21 बाहर से आने वाले लोगों के है। नेशनल हेल्थ कमीशन ने बुधवार को बताया कि एक नया मामला गुआंगडोंग प्रांत का है। मंगलवार तक संक्रमितों की संख्या 82 हजार 858 पहुंच गई है, जबकि 4633 लोगों की मौत हो चुकी है।

बीजिंग के एक पार्क में मास्क पहनकर कैरम खेलते कुछ लोग।

अमेरिका: न्यूयॉर्क में संक्रमण के तीन लाख केस

अमेरिका में 24 घंटे में 2208 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही देश में 59 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। यह आंकड़ा 1955 से 1975 तक चले वियतनाम युद्ध में मरने वालों से भी ज्यादा हो गया है। इस युद्ध में 58 हजार 220 लोग मारे गए थे। अमेरिका दुनिया का पहला देश बन गया है, जहां 10 लाख से संक्रमित हो गए हैं। यहां आंकड़ा दुनियाभर के कुल मामलों का एक तिहाई है। न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी बुरी तरह प्रभावित है। अकेले न्यूयॉर्क में संक्रमण के तीन लाख से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 22 हजार की मौत हो चुकी है। न्यूजर्सी में भी संक्रमण के एक लाख से ज्यादा केस सामने आए हैं। यहां छह हजार से ज्यादा लोग मारे गए हैं। मैसाचुसेट्स, इलिनॉयस, कैलिफोर्निया और पेंसिल्वेनिया ऐसे राज्य हैं जहां अब तक 40 हजार से ज्यादा केस हो चुक हैं।

  • अमेरिकी फेडरल इमरजेंसी मैनेजमेंट एजेंसी और डिपार्टमेंट एंड ह्यूमन सर्विस के अधिकारियों ने सांसदों से कहा- राज्यों में पर्सनल प्रोटेक्शन किट (पीपीई) और टस्टिंग किट की कमी हो गई है। वहीं राष्ट्रपति ट्रम्प हमेशा से कहते रहे हैं कि देश में पर्याप्त मडिकल इक्विपमेंट हैं।
  • स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि ट्रम्प को अमेरिकी नागरिकों के प्रति और ईमानदार होने की जरूरत है। साथ ही उन्हें संक्रमण से निपटने के लिए और ठोस रणनीति बनानी चाहिए। 
  • ट्रम्प ने मंगलवार रात मीट प्लांट सयंत्रों को खोलने की अनुमति दे दी है। इसे बुनियादी जरूरतों में शामिल किया गया है।
  • देश में मॉल के सबसे बड़े संचालक ने शुक्रवार से 10 राज्यों में 49 शॉपिंग सेंटर फिर से खोलने की योजना बनाई है।
  • अमेरिका के संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथोनी फौसी ने मंगलवार को चेतावनी दी कि आने वाले समय में और मौतें हो सकती हैं। खतरा अभी टला नहीं है।
न्यूयॉर्क के मैनहट्टन शहर में मास्क पहनकर घूमते लोग। राज्य में अब तक करीब 22 हजार मौत हो चुकी है।

अमेरिका आने वाले लोगों की जांच होगी: ट्रम्प
अमेरिका में आने वाले सभी लोगों की जांच की जागी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को कहा कि हम इसके लिए एयरलाइंस कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। देश में आने वाले लोगों को विमान में सवार होने से पहले शरीर के तापमान और वायरस की जांच करानी होगी। ऐसा नियम विशेष रूप से उन देशों के यात्रियों के लिए बनाया जाएगा जो इस महामारी से गंभीर रूप से प्रभावित हैं। ट्रम्प ने ब्राजील का उदाहरण दिया। इससे पहले चीन और यूरोपीय देशों के नागरिकों पर यात्रा प्रतिबंध लगाया जा चुका है।

व्हाइट हाउस में मंगलवार को मीडिया को संबोधित करते राष्ट्रपति ट्रम्प।

अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने अस्पताल के नियमों का उल्लंघन किया

अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने अस्पताल के मास्क पहनने की नीतियों का उल्लंघन किया। वे मेयो क्लीनिक अस्पताल में कोरोना पर शोध करने वालों से मिलने गए थे। अस्पताल की ओर से इसके परिसर में आने वाले सभी लोगों के लिए मास्क जरूरी किया गया है। मेयो क्लीनिक ने कहा कि उपराष्ट्रपति को दौरे से पहले इसकी जानकारी दी गई थी। इसके बावजूद उन्होंने मास्क नहीं लगाया। इस पर पेंस ने कहा कि अमेरिका के उप राष्ट्रपति के तौर पर मेरी कोरोना की नियमित जांच होती रहती है। उन्होंने यह भी कहा कि डिसीज कंट्रोल सेंटर ने मास्क को जरूरी नहीं बताया है।

यह तस्वीर शिकागो के एक मॉल के बाहर की है। कई अमेरिकी राज्यों में दुकानें और शॉपिंग मॉल फिर से खोले जा सकते हैं।

अमेरिकी नौसेना के 64 सैनिक संक्रमित
कैलिफोर्निया में सैन डिएगो नौसेना अड्डे में लड़ाकू जहाज यूएसएस किड पर तैनात 64 सैनिक संक्रमित मिले हैं। शिप पर क्रू मेंबर समेत करीब 300 लोग हैं। मंगलवार को 63% लोगों का परीक्षण किया गया था। शिप को सैन डिएगो में डिसइन्फेक्ट किया जा रहा है। क्रू मेंबर्स को आइसोलेट कर दिया गया है। अमेरिका का यह दूसरा लड़ाकू जहाज है जो वायरस से प्रभावित हुआ है। विमान वाहक युद्ध पोत यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट समुद्र में तैनात है।

रूस : सीमाएं खोलने की तारीख तय नहीं
प्रधानमंत्री मिखाइल मिसुस्तिन ने बुधवार को कहा, “दूसरे देशों से लगी सीमाएं कब खोली जाएंगी, इस सवाल का जवाब देना फिलहाल नामुमकिन है। न ही ये बताया जा सकता कि पाबंदियां कब हटेंगी।” रुस ने 15 मार्च को चीन समेत सभी देशों से लगने वाली तमाम बॉर्डर सील कर दी थीं। यह प्रतिबंध 30 अप्रैल तक था। लेकिन, अब कहा गया है कि सीमाएं अगले आदेश तक बंद ही रहेंगी।

स्वीडन: लॉकडाउन लागू नहीं,
महामारी के बीच जहां सभी देशों में लॉकडाउन लगा है, वहीं स्वीडन में सरकार ने कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है। यहां लोग खुद ही नियमों का पालन कर रहे हैं। यहां बिना किसी आदेश के ही लोग सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियम का पालन कर रहे हैं। साथ ही अपने हाथ धो रहे हैं। स्वीडन काफी हद तक अन्य कुछ देशों के जैसे संक्रमण को काबू में करने में सफल रहा है। यहां अब तक 19 हजार 621 संक्रमित हैं, जबकि 2355 की मौत हो चुकी है।

स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम के एक पार्क में बैठे लोग। यहां लोग अपनी इच्छा से ही नियमों का पालन कर रहे। 

इटली: 27,359 मौतें
इटली में मरने वालों की संख्या 27,359 हो गई है। संक्रमितों की संख्या भी दो लाख एक हजार 505 हो गया है। पूरे दुनिया में अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा मौतें इटली में ही हुई हैं। इटली के नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रमुख एंजेलो बोरेली ने मंगलवार को बताया कि 24 घंटे के दौरान 382 लोगों की मौत हुई है। सोमवार की तुलना में मंगलवार को मृतकों की संख्या में थोड़ा इजाफा हुआ है। एक दिन पहले 333 की मौत हुई थी। देश में 10 मार्च से लॉकडाउन लगा है, जिसे तीन मई तक बढ़ा दिया गया है। यहां 21 फरवरी को पहला मामला सामने आया था। सरकार चार मई से लॉकडाउन में ढील देने की योजना बना रही है।

यह तस्वीर 24 अप्रैल की है। इटली के एक शहर में बच्ची और उसकी दादी मास्क पहनकर घूमने निकले हैं। सरकार यहां 4 मई से लॉकडाउन में ढील देने की योजना बना रही है।

फ्रांस: 23,660 मौतें
फ्रांस में अब तक 23 हजार 660 मौतें हो चुकी हैं। 24 घंटे में संक्रमण के दो हजार से ज्यादा केस सामने आए हैं, जबकि 367 की जान गई है। संक्रमितों की संख्या एक लाख 65 हजार 911 हो चुकी है। प्रधानमंत्री एडोर्ड फिलीप ने मंगलवार को संसद में लॉकडाउन से बाहर निकलने के उपायों की रूपरेखा प्रस्तुत की। कहा कि लॉकडाउन लागू करने के बाद एक महीने में करीब 62 हजार जिंदगियां बचाई गईं हैं। लेकिन अर्थव्यवस्था को ध्वस्त होने से बचाने के लिए लॉकडाउन के कुछ नियमों में ढील देने का समय आ गया है। यहां 11 मई से लॉकडाउन के नियमों में कुछ ढील देने की घोषणा की गई। फिलीप ने कहा, “हमें इस वायरस के साथ रहना सीखना होगा, जब तक कि इसका कोई वैक्सीन या स्थायी इलाज उपलब्ध नहीं हो जाता। यदि प्रति दिन मामलों की संख्या तीन हजार से कम नहीं रही तो 11 मई से लॉकडाउन में छूट नहीं दी जाएगी।

फ्रांस के सिबौर पोर्ट पर मास्क पहनकर मछली खरीदती महिला। प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कहा- नए मामले 3 हजार से कम नहीं हुए तो 11 मई से लॉकडाउन में छूट नहीं दी जाएगी।

रूस: पीपीई की कमी
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को कहा कि देश में महामारी अभी उच्चतम स्तर पर नहीं पहुंचा है। उन्होंने देश में 11 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। साथ ही राष्ट्रपति ने पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) की कमी की बात सस्वीकार की है। उन्होंने कहा कि बड़े स्तर पर उत्पादन किए जाने और आयात के बाद भी कमी को पूरा नहीं किया जा पा रहा है। देश में 93 हजार से ज्यादा केस और 867 मौतें हो चुकी हैं।

रूस के सेंटपिटसबर्ग में पोक्रोस्कोवा हॉस्पिटल के पास से प्रोटेक्टिव सूट पहनकर गुजरता स्वास्थ्यकर्मी।

इजरायल: 15,728 केस
इजरायल के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 24 घंटे में संक्रमण के 173 नए केस मिले हैं। संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15,728 हो गई है। यहां एक दिन में छह लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही कुल आंकड़ा 210 हो गया है। इजरायल में मंगलवार को पूर्ण रूप से लॉकडाउन लागू किया गया, जो बुधवार तक जारी रहेगा। इजरायल बुधवार को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाएगा। इस बीच, प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने तीन मई से चरणबद्ध तरीके स्कूल खोलने का फैसला किया है।

इजराइल में मेमोरियल डे के मौके पर सैनिकों को श्रद्धांजलि देते मास्क पहने लोग। यहां संक्रमितों की संख्या 15,728 हो गई है।

तुर्की: 2392 नए मामले
पश्चिम एशिया के देश तुर्की में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देश की राष्ट्रीय विमान सेवा कंपनी तुर्किश एयरलाइंस ने 28 मई तक के लिए अपनी सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को स्थगित करने की घोषणा की है। स्वास्थ्य मंत्री फाहरेतिन कोजा ने मंगलवार को बताया कि 24 घंटे के दौरान देश में संक्रमण के 2392 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 92 की मौत हुई है। कोका ने ट्वीट किया- तुर्की में संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक लाख 14 हजार 653 हो गई है, जबकि 2992 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां संक्रमण का पहला मामला 11 मार्च को सामने आया था।

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: