First death in CRPF from Corona, Sub Inspector admitted to Safdarganj Hospital in Delhi succumbed | कोरोना से सीआरपीएफ में पहली मौत, दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती सब इंस्पेक्टर ने दम तोड़ा

  • कोरोना संक्रमित सीआरपीएफ के 55 वर्षीय सब इंसपेक्टर की मंगलवार को मौत हो गई, उसे मधुमेह और हाइपरटेंशन की भी शिकायत थी
  • मृतक सीआरपीएफ के मयूर विहार स्थित 31 वीं बटालियन में सब इंसपेक्टर था, पांच दिन पहले उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

दैनिक भास्कर

Apr 28, 2020, 09:19 PM IST

नई दिल्ली. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक कोरोना संक्रमित 55 वर्षीय सब इंसपेक्टर की मंगलवार को मौत हो गई। यह सीआरपीएफ में कोरोना से मौत का पहला मामला है। मृतक सीआरपीएफ के मयूर विहार स्थित 31 वीं बटालियन में सब इंसपेक्टर था। पांच दिन पहले उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसे मधुमेह और हाइपरटेंशन की शिकायत भी थी। सीआरपीएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मौत की पुष्टि की।

आज सीआरपीएफ के 12 अन्य जवान पॉजिटिव मिले। इसके साथ ही अब तक दिल्ली में सीआरपीएफ के 47 जवान कोरोना संक्रमित पाए जा चुके हैं। संक्रमित पाए  गए जवानों को स्थानीय लोगों की मदद के लिए और उन्हें जरूरी सामान की आपूर्ति करने का काम सौंपा गया था।

नर्सिंग कर्मचारी के संपर्क में आने से संक्रमित हुआ

मृतक सब इंसपेक्टर सीआरपीएफ के मयूर विहार कैंप में तैनात था। सूत्रों के मुताबिक वह एक नर्सिंग कर्मचारी के संपर्क में आने से संक्रमित हुआ था। इसके बाद उसे दूसरे जवानों के साथ मंडोली में कोराना पीड़ितों के लिए बनाए गए कैंप में रखा गया था। हालांकि, तबीयत बिगड़ने पर उसे कुछ दिन पहले सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार शाम 4 बजे उसने अंतिम सांसें ली। संक्रमण के मामले सामने आने के बाद 31 वीं बटालियन के सभी जवानों और उनके परिवार के 400 सदस्यों की जांच की जा चुकी है। 

सीआरपीएफ देश की सबसे बड़ी पारामिलिट्री फोर्स
सीआरपीएफ देश की सबसे बड़ी पारामिलिट्री फोर्स है। इसमें करीब 3.25 लाख जवान और अधिकारी अलग-अलग रैंकों पर सेवाएं देते हैं। यह केंद्रीय सुरक्षा बल मुख्य तौर पर देश की अंदरूनी सुरक्षा व्यवस्था संभालने का काम करती है। खास तौर पर नक्सली गतिविधियों और कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए इन्हें तैनात किया जाता है। कोरोना संक्रमण के कुछ मामले सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल(सीआईएसएफ) में भी सामने आए हैं। इनमें से कुछ ठीक भी हुए हैं। 

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: