Lockdown impact on Cricket, Rohit Sharma| Indian ODI Team Vice Captain said batsmen will take more time to get into the groove | रोहित ने कहा- 3 महीने से बल्लेबाजों ने बल्ले को हाथ तक नहीं लगाया, गेंदबाजों की तुलना में उनकी वापसी ज्यादा मुश्किल

  • रोहित शर्मा ने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी से सोशल मीडिया पर लाइव चैट के दौरान यह बात कही
  • भारतीय वनडे टीम के उपकप्तान के मुताबिक, बल्लेबाजों को टाइमिंग हासिल करने में डेढ़ महीने का वक्त लगेगा
  • शमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी से पहले नेशनल क्रिकेट एकेडमी में 1 महीने का ट्रेनिंग कैम्प लगाने का सुझाव दिया

दैनिक भास्कर

May 06, 2020, 12:11 PM IST

भारतीय वनडे टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा ने कहा है कि लॉकडाउन के बाद बल्लेबाजों की मैदान पर वापसी आसान नहीं होगी। उन्होंने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी से सोशल मीडिया पर लाइव चैट के दौरान यह बात कही। 
रोहित ने कहा कि बल्लेबाजों को पुरानी लय और टाइमिंग हासिल करने में कम से कम डेढ़ महीना लगेगा। हैंड आई कोऑर्डिनेशन बल्लेबाजी का अहम पहलू होता है। ऐसे में बल्लेबाज को गेंद की रफ्तार के साथ तालमेल बैठाने में वक्त लगेगा। 

बल्लेबाजों को लय हासिल करने में ज्यादा वक्त लगेगा: रोहित
भारत के इस सलामी बल्लेबाज ने शमी से कहा कि गेंदबाजों की तुलना में बल्लेबाजों के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी ज्यादा चुनौतीपूर्ण होगी। क्योंकि बल्लेबाजों को प्रैक्टिस के लिए ज्यादा वक्त चाहिए होगा। वे 3 महीने से ज्यादा समय से मैदान से दूर हैं। इस दौरान उन्होंने बल्ले को हाथ तक नहीं लगाया है। ऐसे में दोबारा लय हासिल करना उनके लिए ज्यादा मुश्किल होगा। 

‘गेंदबाज शारीरिक रूप से तैयार रहेंगे’
तेज गेंदबाज होने के बाद भी शमी टीम के उप कप्तान की बात से सहमत नजर आए। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बावजूद तेज गेंदबाज वर्कआउट पर ध्यान दे रहे हैं। वे ट्रेडमिल पर भी दौड़ रहे हैं। इससे हमें शरीर के निचले हिस्से को मजबूत बनाए रखने में मदद मिलेगी। कोरोना के बाद जब क्रिकेट की दोबारा शुरुआत होती तो हमें बस गेंद छोड़ते वक्त कलाई की सही पोजीशन पर ही काम करना होगा और इसे हासिल करने में 10 से 15 दिन का वक्त ही लगेगा। 

एनसीए में 1 महीने का ट्रेनिंग कैम्प हो: शमी

शमी ने कहा कि लॉकडाउन के बाद क्रिकेट मैदान पर वापसी से पहले नेशनल क्रिकेट एकेडमी यानी एनसीए में एक महीने का ट्रेनिंग कैम्प होना चाहिए। इस बारे में मैंने आशीष भाई(आशीष नेहरा) से भी बात की है कि जैसे ही लॉकडाउन खत्म हो, हम एनसीए में ट्रेनिंग कैम्प शुरू करें। इससे हम लय हासिल करने में तो मदद मिलेगी ही और यह भी पता लगाया जा सकेगा कि कोई गेंदबाज चोटिल तो नहीं। 

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: