Long queue seen outside liquor shop in india delhi and others states | दिल्ली में शराब पर 70% अतिरिक्त टैक्स, होम डिलीवरी की भी इजाजत; हरियाणा ने शराब पर कोविड सेस लगाया

  • उत्तराखंड के नैनीताल में प्रशासन ने मंगलवार को शराब बिक्री की इजाजत दी, लोग बारिश के दौरान भी लाइन में खड़े रहे
  • दिल्ली के चंद्रनगर इलाके में एक व्यक्ति शराब खरीदने के लिए कतार में खड़े लोगों पर फूल बरसाता दिखा
  • शराब दुकानों पर भीड़ के चलते बीएमसी ने मुंबई में बिक्री पर रोक लगाई

दैनिक भास्कर

May 05, 2020, 11:04 PM IST

नई दिल्ली. राजधानी में केजरीवाल सरकार ने मंगलवार से शराब पर 70% अतिरिक्त टैक्स वसूलना शुरू कर दिया है। सोमवार को शराब दुकानें खुलते ही यहां भारी भीड़ हो गई थी और कई जगहों पर मारपीट की घटनाएं भी सामने आई थीं। इसके बाद मंगलवार को दिल्ली सरकार ने शराब की होम डिलीवरी करने की इजाजत भी दे दी। वहीं, मुंबई में शराब दुकानों पर बढ़ती भीड़ को देखते हुए बीएमसी ने इसकी बिक्री पर रोक लगा दी है। उत्तराखंड में भी कई जगहों पर शराब बिक्री की इजाजत दी गई। नैनीताल में भारी बारिश के दौरान भी लोग कतार में खड़े नजर आए।
हरियाणा ने भी शराब पर कोविड सेस लगा दिया है। देशी शराब के क्वार्टर पर 5 रुपए, विदेश शराब पर 20 रुपए, स्ट्रांग बीयर पर 5 रुपए और अन्य बीयर पर 2 रुपए कोविड सेस लगेगा।

बर्फबारी में शराब के लिए कतार में खड़े रहे लोग

लॉकडाउन के दौरान महीने भर तक बंद रहने के बाद जब शराब दुकानें खुलीं, तो जैसे सुराप्रेमियों का कारवां उमड़ पड़ा। शराब हासिल करने की धुन में लोगों को कोई मुश्किल भारी नजर नहीं आई। ये तस्वीरें उत्तराखंड के नैनीताल की हैं, जहां शराब खरीदने के लिए कतार में लगे लोगों को न बारिश डिगा पाई और न ही इन्हें बर्फबारी से ठिठुरन महसूस हुई। तमाम मुश्किलों को झेलते हुए लोग अपनी बारी का इंतजार करते रहे और आखिरकार शराब दुकान तक पहुंचकर ही माने।

दिल्ली में टैक्स बढ़ाए जाने के बाद भी मंगलवार को सुबह से यहां शराब की दुकानों पर लोगों की लंबी कतारें दिखीं। लॉकडाउन फेज-3 के पहले दिन सोमवार को शराब की दुकानें खोलने की मंजूरी दी थी, लेकिन भारी भीड़ और लॉकडाउन का पालन न करने की वजह से केजरीवाल सरकार ने अतिरिक्त टैक्स वसूलने का फैसला किया। इसे स्पेशल कोरोना फीस नाम दिया है।

कतार में खड़े लोगों पर फूल बरसाए, कहा- आप देश की अर्थव्यवस्था हो

दिल्ली में कुछ लोग तो आज शराब की दुकानें खुलने पर जश्न मनाते और लोगों पर फूल बरसाते दिखे। दिल्ली के चंद्रनगर इलाके में एक व्यक्ति कतार में खड़े लोगों पर फूल बरसाता दिखा। जब लोगों ने इस आपत्ति जताई तो उसने कहा, ‘आप लोग हमारी देश की अर्थव्यवस्था हो। सरकार के पास पैसा नहीं है।’  लॉकडाउन के तीसरे फेज में ऑरेंज और ग्रीन जोन में शराब की दुकानें खोलने की इजाजत दी गई है।

यह तस्वीर दिल्ली के लक्ष्मी नगर की है। यहां मंगलवार सुबह से शराब की दुकानों पर भीड़ देखी गई। 

प्रशासन से नाराज दिखे लोग 

वहीं, कुछ लोगों ने प्रशासन पर सवाल खड़े किए। उसने बताया कि मैं शराब खरीदने के लिए सुबह छह बजे आ गया था। दुकान 9 बजे खुलनी थी। पुलिस भी 8.50 बजे पहुंची। इसके लिए कौन जिम्मेदार है। अगर कुछ यहां गलत हो गया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा? हमें 70 फीसदी ज्यादा टैक्स देने में कोई आपत्ति नहीं है। यह देश को एक तरह का दान है।

दूसरे राज्यों में भी लोग कतारों में लगे दिखे 
कर्नाटक, आंध्र प्रदेश समेत अन्य राज्यों में भी आज लोग शराब की दुकानों पर कतारों में लगे दिखे। कई जगह लोगों ने कतार के लिए बने गोलों पर हेलमेट, पानी की बॉटल रख दी थी। ये लोग दुकान खुलने के पहले ही पहुंच गए थे। 

यह तस्वीर कर्नाटक के हुबली की है। लोग मंगलवार सुबह  शराब की दुकान खुलने के पहले ही पहुंच गए और कतार में लग गए।

दिल्ली में सोमवार को दो किमी लंबी लाइन लगी थी
लॉकडाउन के तीसरे फेज में ऑरेंज और ग्रीन जोन में शराब की दुकानें खोलने की इजाजत दी गई, लेकिन इन दुकानों पर लॉकडाउन की धज्जियां उड़ीं। लोग सोमवार सुबह 5 बजे से ही लाइनों में लग गए। कई दुकानों के बाहर दो किलोमीटर लंबी लाइनें लग गईं। शराब के लिए लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भूल गए। कर्नाटक में तो दुकानें खुलने से पहले नारियल-अगरबत्ती चढ़ाकर पूजा करते नजर आए। दिल्ली के अलावा आंध्रप्रदेश के चित्तूर में पुलिस को सख्ती करनी पड़ी। 

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: