Madhya Pradesh Coronavirus Lockdown | Indore Bhopal (MP) Corona Cases Update | Madhya Pradesh Novel Coronavirus Cases Live News Updates Indore Bhopal Jabalpur Corona Update | 4 मई से ग्रीन जोन के जिलों को बड़ी राहत मिल सकती है; दूसरे राज्यों में फंसे 40 हजार मजदूर वापस लाए गए

  • राज्य के आधे जिले ग्रीन जोन में शामिल, भोपाल, इंदौर और उज्जैन रेड जोन में, बाकी जिले ऑरेंज जोन में
  • मध्य प्रदेश में सभी प्रकार की खेल गतिविधियां 31 मई तक के लिए स्थगित की गईं, पहले 30 अप्रैल तक थीं

दैनिक भास्कर

May 01, 2020, 08:44 PM IST

भोपाल. लॉकडाउन की अवधि 17 मई तक बढ़ा दी गई है। इस दौरान किन इलाकों में राहत दी जाएगी, इसका ऐलान बाद में किया जाएगा। रेड जोन में कोई राहत नहीं दी जाएगी। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में भोपाल, इंदौर और उज्जैन रेड जोन में हैं। आधे जिले ग्रीन जोन और बाकी ऑरेंज जोन में हैं। प्रदेश में अब तक 2625 संक्रमित पाए गए। 512 स्वस्थ होकर घर भेजे गए। जबकि 130 की मौत हो गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विभिन्न प्रदेशों से मध्य प्रदेश के लगभग 40,000 मजदूरों को बसों से लाया जा चुका है। कुछ मजदूर मार्ग में है तथा अब बाकी एक लाख से अधिक मजदूरों को ट्रेन से मध्यप्रदेश वापस लाया जाएगा। इसके लिए रेल मंत्री से बात हो चुकी है। 

कोरोना संक्रमण में सुधार के संकेत: मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण में कमी आई है। गुरुवार को आई जांच रिपोर्ट में प्रदेश में मात्र 2.4 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव निकले। भोपाल में 1.9 फीसदी, इंदौर में 2.2 और जबलपुर में 4.4 प्रतिशत पॉजिटिव पाए गए। यह अच्छे संकेत हैं। हम जल्दी ही कोरोना को हरा देंगे। चौहान ने कहा कि अब इंदौर की स्थिति में भी तेजी गति से सुधार हो रहा है। जांच रिपोर्ट में इंदौर के 451 टेस्ट रिजल्ट में से मात्र 10 पॉजिटिव आए। प्रदेश की 30 अप्रैल की रिपोर्ट में 2617 सैम्पल की जांच में सिर्फ 65 टेस्ट पॉजिटिव आए हैं। भोपाल में 1275 जांचों में से 25 और जबलपुर में 157 में से 7 और उज्जैन में 94 में से 11 पॉजिटिव आईं।

मध्य प्रदेश में गेहूं की खरीदी 15 अप्रैल से शुरू हो गई है। सीहोर में इस बार गेहूं की बंपर पैदावार हुई है।  

किसानों के खातों में 2990 करोड़ की बीमा राशि भेजी गई

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को किसानों के बैंक खातों में फसल बीमा की 2990 करोड़ राशि का ऑनलाइन भुगतान किया। इससे प्रदेश के 14 लाख 93 हजार 171 को फायदा होगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि 8 लाख 33 हजार 171 किसानों को खरीफ फसल की बीमा राशि के रूप में 1930 करोड़ रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किए गए। ऐसे ही 14 लाख 93 हजार 171 किसानों को रबी फसल की बीमा राशि के रूप में 1060 करोड़ का भुगतान किया गया। इससे पहले सरकार ने फसल बीमा की 2200 करोड़ रुपए की राशि का भुगतान बीमा कंपनियों को प्रीमियम के लिए किया था।

प्रदेश में कोरोना हेल्पलाइन शुरू, 5 हजार डॉक्टर देंगे परामर्श
स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कोविड-19 से निपटने के लिये कोरोना हेल्पलाइन और कोरोना ई-परामर्श सेवा की शुरूआत की। उन्होंने कहा कि दोनों ही सेवाओं की शुरुआत बहुजन‍ हिताय-बहुजन सुखाय के उद्देश्य से शुरू की जा रही है। आमजन कोरोना हेल्पलाइन नंबर 104 पर फोन कर चिकित्सकों से निशुल्क परामर्श ले सकेंगे। इससे पहले भोपाल में निजी डॉक्टरों से फोन पर बीमारियों के परामर्श लेने की शुरूआत की गई थी। अब ये पहली बार है, जब पूरे प्रदेश में लोग कोरोना के संबंध में परामर्श ले सकेंगे। 

भोपाल में गुरुवार को चिरायु अस्पताल से 28 कोरोना संक्रमित इलाज के बाद डिस्चार्ज किए गए। भोपाल में अब तक 223 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। 

प्रदेश में खेल गतिविधियां 31 मई तक स्थगित 
कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए खेल संचालक वीके सिंह ने प्रदेश के सभी स्टेडियम/ मैदानों पर संचालित खेल गतिविधियां, प्रशिक्षण और प्रतियोगिताओं को 31 मई तक स्थगित कर दिया है। पहले खेल गतिविधियों को 31 मार्च तक फिर 30 अप्रैल तक स्थगित किया गया था। 

लॉकडाउन के बीच हरदा में उत्तर प्रदेश के कई मजदूर महाराष्ट्र से आकर फंस गए। उन्हें सरकार बसों से उनके गृह राज्य भेज रही है। 

35 हजार मजदूर मध्य प्रदेश लाए गए

अपर मुख्य सचिव आईसीपी केशरी ने बताया कि दूसरे राज्यों से अब तक लगभग 35 हजार मजदूर मध्यप्रदेश लाए जा चुके हैं। इनमें राजस्थान से 25 हजार, गुजरात से 6000, उत्तर प्रदेश से 2000 और महाराष्ट्र से 2000 मजदूर आए हैं। सभी मजदूरों की बॉर्डर पर हेल्थ स्क्रीनिंग की जा रही है। मध्य प्रदेश के करीब 1 लाख 14 हजार मजदूर 18 अलग-अलग राज्यों में फंसे हैं।

भोपाल में गुरुवार को तीन कंटेनमेंट जोन फ्री कर दिए गए। यहां पर 28 दिन से कोई पॉजिटिव मरीज नहीं मिला। 

भोपाल: पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गुरुवार को भोपाल में ड्यूटी कर रहे 700 पुलिसकर्मियों को फेस शील्ड दिए गए। इससे चेकिंग और पेट्रोलिंग के दौरान पुलिस का किसी संक्रमित व्यक्ति से सीधा संपर्क या संवाद होने पर काफी हद तक बचाव हो सकेगा।

इंदौर: इंदौर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े में लगातार इजाफा हो रहा है। गुरुवार देर रात आई रिपोर्ट में 28 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। 4 लोगों ने दम भी तोड़ा। अब तक 1513 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। 72 लोगों की जान जा चुकी है। 

जबलपुर: जबलपुर में गुरुवार को दो कोरोना संक्रमित मिले। अब यहां इस बीमारी के मरीजों की संख्या 87 हो गई है। उधर, मेडिकल कॉलेज में भर्ती दो कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया। अब तक 9 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। जबकि एक की मौत हो चुकी है।

मध्य प्रदेश के मजदूरों को लाने का सिलसिला जारी है। तस्वीर गुजरात में फंसे मजदूरों की है। इन्हें राज्य में वापस लाया जा चुका है।

हरदा: 362 मजदूरों को लेकर 12 बसें उत्तरप्रदेश भेजीं
लाॅकडाउन में फंसे 362 मजदूरों को 12 बसों से उत्तर प्रदेश भेजा गया है। तय रूट के अनुसार, 4 बसें प्रयागराज भेजी गईं। 8 बसें झांसी के लिए रवाना की गईं। इससे पहले मेडिकल टीम ने श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच कर प्रमाणपत्र दिए। प्रशासन ने सभी के लिए भोजन की व्यवस्था भी की। इनमें कई मजदूर महाराष्ट्र के शहरों से घर की ओर निकले थे। इधर, जिले में गुरुवार को दो और कोरोना पाजिटिव मरीज पाए गए। यहां संक्रमितों की संख्या 3 हो गई। ये दोनों पहले संक्रमित पाए गए भटपुरा निवासी युवक के परिवार के सदस्य हैं। 

रीवा में एक डॉक्टर और उनके दो परिजन के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इलाके को सील कर दिया गया। यहां पर डॉक्टरों की टीम को फेस शील्ड देकर सर्वे के लिए लगाया गया। 

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमितों की संख्या 2625 : इंदौर 1486, भोपाल 508, उज्जैन 138, जबलपुर 85, खरगोन 70, धार 48, खंडवा 46, रायसेन 55, होशंगाबाद 35, बड़वानी 26, देवास 24, रतलाम में 14, मुरैना-विदिशा में 13-13, आगर मालवा 12, मंदसौर 9, शाजापुर 6, सागर और छिंदवाड़ा 5-5, ग्वालियर और श्योपुर 4-4, अलीराजपुर-शहडोल में 3-3, रीवा-शिवपुरी और टीकमगढ़ में 2-2, बैतूल, डिंडोरी, हरदा, बुरहानपुर, अशोकनगर एक-एक संक्रमित मिला। अन्य राज्य के 2 मरीज हैं।

  • अब तक 130 की मौत: इंदौर 68, उज्जैन 24, भोपाल 15, खरगोन और देवास में 7-7, खंडवा 4, होशंगाबाद में 3, रायसेन और मंदसौर 2-2, धार, जबलपुर, आगर मालवा, छिंदवाड़ा, अशोकनगर में एक-एक की मौत हो गई।
  • स्वस्थ्य हुए 512 मरीज: इंदौर 177, भोपाल 223, मुरैना और विदिशा 13-13, खरगोन 22, खंडवा 31, बड़वानी और होशंगाबाद 14-14, जबलपुर 9, उज्जैन 5, देवास में 7, शाजापुर, ग्वालियर, श्योपुर 4, छिंदवाड़ा और शिवपुरी 2-2, रायसेन और सागर में एक-एक मरीज स्वस्थ हुआ।  (स्वास्थ्य विभाग द्वारा 30 अप्रैल को जारी बुलेटिन के अनुसार)

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: