The doors of Kedarnath will open tomorrow; Rawal will not be present for the first time, a day before 5 people arrived with Baba Kedar’s Doli | केदारनाथ के कपाट आज खुलेंगे; रावल मौजूद नहीं होंगे, एक दिन पहले ही 5 लोग बाबा केदार की डोली लेकर पहुंचे

  •  तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और मंदिर को 5 क्विंटल फूलों से सजा दिया गया है
  •  केदारनाथ मंदिर के कपाट आज सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर खुलेंगे

दैनिक भास्कर

Apr 29, 2020, 03:38 AM IST

देहरादून. चारधाम यात्रा के प्रमुख पड़ाव केदारनाथ मंदिर के कपाट आज सुबह खुलेंगे। तैयारियां पूरी हो चुकी हैं और मंदिर को 5 क्विंटल फूलों से सजा दिया गया है। आज सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर कपाट खुलेंगे। केदारनाथ के कपाट खुलते वक्त मंदिर के रावल भीमाशंकर वहां मौजूद नहीं होंगे। मुख्य पुजारी शिवशंकर ने ही ऊखीमठ में पूजा की थी और कपाट खुलते वक्त भी वही परंपरा पूरी करेंगे। केदारनाथ के रावल गिरी हैं, वे 19 अप्रैल के बाद से ऊखीमठ में क्वारैंटाइन में हैं। वे 3 तारीख के बाद ही केदारनाथ जाएंगे।

यह पहली बार नहीं है, जब रावल की अनुपस्थिति में कपाट खुल रहे हैं। केदारनाथ में रावल गुरु स्थान में होते हैं, वे खुद पूजा नहीं करते, इसलिए पहले भी कुछ मौकों पर रावल की अनुपस्थिति में कपाट खुले हैं। पूजा का जिम्मा रावल के अधीन आने वाले लिंगायत ब्राह्मणों का होता है। वही पुजारी होते हैं। पुजारी के अलावा चार वेदपाठी होते हैं, जो स्थानीय लोग होते हैं। साथ में हकहकूकधारी भी होते हैं, जो कपाट खुलने के समय मौजूद रहते हैं। इनके अलावा मंदिर के कर्मचारी होते हैं। ये सभी लोग कल वहां मौजूद होंगे।

यह मंदिर केदारनाथ का है। कोरोना के कारण सभी मंदिरों के कार्यक्रमों पर असर पढ़ा है। भगवान बद्रीनाथ के कपाट पहले 30 तारीख को खुलने थे, जिसे अब बदलकर 15 मई कर दिया गया है।

केदारनाथ की डोली पहुंची
पांच भक्त बाबा केदारनाथ की डोली लेकर केदारधाम पहुंच गए हैं। यह दूसरा मौका है जब डोली को आधे से ज्यादा रास्ते गाड़ी में लाया गया है। इससे पहले देश में इमरजेंसी के वक्त ऐसा किया गया था।

चारधाम यात्रा तय नहीं
कोरोना की वजह से देशभर में जारी लॉकडाउन का असर चारधाम यात्रा पर भी पड़ा है। यात्रा होगी या नहीं, इस पर फैसला अब तक नहीं हो सका है। कपाट खुलने की तारीख को लेकर भी विवाद हुआ था और सरकार ने इसे आगे बढ़ाने को कहा था। लेकिन रावल और हकहकूकधारियों की एक बैठक में पहले से तय तारीख पर ही पट खोलने का फैसला लिया गया। वहीं, बद्रीनाथ के कपाट पहले 30 तारीख को खुलने थे, जिसे अब बदलकर 15 मई कर दिया गया है।

Source link

Leave a Comment

%d bloggers like this: